मात्रक विद्युत चुंबकीय तरंगें रेडियो समस्थानिक उपचार अम्ल तथा प्राकृतिक स्रोत कार्बन यौगिक लवण तथा उसका उपयोग विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी

विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी

1. मात्रक
A. बल      1. न्यूटन/डाइन
B. दाब      2. पास्कल
C. उर्जा     3. जूल/अर्ग
D. शक्ति    4. वाट

2. उर्जा रूपांतरण
A. सौर सेल            1. उष्मा से वैद्युत
B. नाभिकीय संयंत्र  2. द्रव्यमान से उष्मा
C. इंजन                 3. उष्मा से यांत्रिक
D. मोटर                 4. वैद्युत से यांत्रिक

3. विद्युत चुंबकीय तरंगें
A. गामा किरणें         1.नाभिकीय क्रिया
B. एक्स किरणें         2. चिकित्सा
C. पराबैंगनी किरणें   3. जीवाणु नष्ट करने
D.अवरक्त किरणें       4. रिमोट

4. कम्प्यूटर
A. प्रथम पीढ़ी      1. निर्वात ट्यूब
B. द्वितीय पीढ़ी    2. ट्रान्जिस्टर
C. तृतीय पीढ़ी     3. आईसी चिप
D.चतुर्थ पीढ़ी       4. VLSI/ULSI

5. रेडियो समस्थानिक उपचार
A.कोबाल्ट      1. कैंसर
B. लोहा          2. एनीमिया
C. फास्फोरस  3. अस्थि रोग
D. सोडियम    4. रूधिर विकार

6. धातु सर्वाधिक
A.गलनांक/क्वथनांक     1. टंगस्टन
B.उष्मा/विद्युत सुचालक 2. चाँदी
C. यौगिक                     3. कार्बन
D. स्थाई                        4. लोहा

7. अम्ल
A. हाइड्रोक्लोरिक एसिड  1. भोजन पाचन
B. नाइट्रिक एसिड            2. फोटोग्राफी
C. फार्मिक एसिड             3. फल संरक्षण
D. बेंजोइक एसिड            4. खाद्य संरक्षण

8. अम्ल तथा प्राकृतिक स्रोत
A. एसिटिक एसिड       1. सिरका
B. साइट्रिक एसिड        2. नींबू
C. लैक्टिक एसिड         3.  दूग्ध
D. फार्मिक एसिड          4. चींटी, बर्र, बिच्छू

9. लवण तथा उसका उपयोग
A. सोडियम क्लोराइड      1. खाने
B. सोडियम बाई कार्बोनेट 2. बेकरी
C. सिल्वर नाइट्रेट             3. निशान स्याही
D. कापर सल्फेट              4. छपाई

10. कार्बन यौगिक तथा उनके उपयोग
A. मीथेन      1. मार्श गैस
B. एथिलीन   2. फल पकाने
C. बेंजीन      3. शुष्क धुलाई
D. फ्रीआन    4. प्रशीतक
Read full here

खनिज पदार्थ उपयोग विटामिन रासायनिक नाम एंजाइम तथा पाचन हार्मोन नियंत्रण बेरी-बेरी विज्ञान और प्रौद्योगिकी के प्रश्न और उत्तर

खनिज पदार्थ उपयोग विटामिन रासायनिक नाम एंजाइम तथा पाचन हार्मोन नियंत्रण बेरी-बेरी विज्ञान और प्रौद्योगिकी के प्रश्न और उत्तर

विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी

1. पौधे तथा प्रकार
A. लाइकेन        1. सहजीवी
B.घटपर्णी          2. कीटभक्षी
C.अमरबेल        3. परजीवी
D. नाइट्रोमोनास 4.रसायन संश्लेषी

2. खनिज पदार्थ तथा उसका उपयोग
A.फास्फोरस  1.pH मान ठीक रखना
B. कैल्शियम  2.हड्डी निर्माण
C. आयरन     3. हीमोग्लोबिन निर्माण
D.सोडियम    4. रक्तदाब नियंत्रण

3. विटामिन तथा रासायनिक नाम
A.विटामिन ए    1.एक्सोरोफाइटाल
B.विटामिन सी   2. एस्कार्बिक एसिड
C.विटामिन डी   3. कैल्सिफिरोल
D. विटामिन  ई   4. टोकोफिरोल

4. विटामिन तथा उनकी कमी से होने वाले रोग
A. विटामिन ए      1. रतौंधी
B. विटामिन सी     2. स्कर्वी
C.विटामिन डी      3. रिकेट्स
D.विटामिन ई        4. नपुंसकता

5. एंजाइम तथा पाचन
A. पेप्सीन      1. प्रोटीन
B. रेनिन         2. दूध
C.लाइपेज      3. वसा
D.एमाइलेज    4. कार्बोहाइड्रेट
6. हार्मोन तथा नियंत्रण
A.थाइराक्सीन    1. उपापचय
B.इंसुलिन           2. शर्करा
C.आक्सीटोसीन  3. दुग्ध स्राव
D. वेप्रोसीन         4. जल संतुलन

7. पौधे तथा उपयोगिता
A. पुदीना      1. वात
B.तुलसी       2. कफ
C.सदाबहार   3. मधुमेह
D.ब्राह्मी        4. मस्तिष्क

8. बीमारी तथा प्रभावित अंग
A. मलेरिया      1.रक्त
B. फाइरिया     2. लसिका
C.ल्यूकेमिया    3. बोन मैरो
D.निमोनिया     4. फेफडा़

9. शारीरिक रसायन
A .एट्रोपीन        1. एल्केलायड
B. कोलेस्ट्रॉल     2. अंडपीतक
C. एंड्रोजन        3. हार्मोन
D. टायलीन        4. एंजाइम

10. विटामिन बी-काम्प्लेक्स व कमी से होने वाले रोग
A.विटामिन बी-1      1. बेरी-बेरी
B. विटामिन बी-2     2. चिलोसिस
C. विटामिन बी-5     3.पेलाग्रा
D. विटामिन बी-12   4. एनीमिया
Read full here

काले धन का सदुपयोग - Best Use of Black Money in India

काले धन का सदुपयोग - काले धन का क्या सदुपयोग हो सकता है | निचे के बिन्दुओ को विस्तार से पढ़े |

सभी बैंको मैं एक काउंटर अलग से ब्लैक मनी वालो के लिए लगाया जाए | यहाँ पर 500, 1000 के नोट के रूप में
 ब्लैक मनी जमा करवा सकते है वो भी बिना लाइन के | सभी लोग अपना कला धन गंगा में बहाने या जलाने के बजाये ब्लैक मनी जमा करवा देंगे | ये पैसा अलग सरकारी अकाउंट में जमा होना चाहिए |  इस पैसो को भारत ग्रामीण किसान विकास के काम लिया जा सकता है |  इस पैसे से भारत का नक्शा बदला जा सकता है | किशानो का विकास किया जा सकता है |

Pharmeasy Customer Care Number

प्रोत्साहन के लिए लिए ब्लैक मनी जमा करवाने  पर 1 प्रतिशत नयी मुद्रा देनी चाहिए और ब्लैक मनी जमा करवाने वाले की पहिचान गुप्त होनी चाहिए |

अगर कोई 1 करोड़ कला धन जमा करवाता है तो उसको 1 लाख रुपये वापिस मिलाने चाहिए बाकी 99 लाख सरकारी खाते में जो विकास के लिए अलग से रखे जाए |

अगर पूरा ब्लैक मनी स्पेशल अकाउंट  में जमा होता है तो पूरा पैसा भारत के बजट से भी अधिक होगा |

अधिक से अधिक शेयर करे जिस से सरकार ऐसा खाता खोले और पैसा गरीब, किसान, मजदुर और आम आदमी के विकास में काम आ सके  |
Read full here

कार्बन यौगिक अक्रिय गैस शराब निर्माण कांच उपयोग औषधि निर्माण अयस्क हानिकारक तत्व

कार्बन यौगिक अक्रिय गैस उपयोग धातु /यौगिक शराब तथा निर्माण कांच उपयोग औषधि निर्माण अयस्क हानिकारक तत्व

 विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी

1. कार्बन यौगिक तथा उनके उपयोग
A. पालीकार्बोनेट      1. बुलेटप्रुफ
B. एक्रोलीन             2. आँसू गैस
C. टालुईन               3. सैकरीन
D. टेफ्लान               4. नान-स्टिक बर्तन

2. अक्रिय गैस तथा उनके उपयोग
A. हीलियम        1. मौसम जानकारी
B. नीयान           2. चमकीले विद्युत विज्ञापन
C. आर्गन           3. विद्युत बल्ब
D. रेडान            4. कैंसर उपचार

3. धातु /यौगिक
A. सिलिकॉन               1. आईसी चिप
B. लाल फास्फोरस       2. सेफ्टी माचिस
C. लेड एसीटेट             3. एक्जीमा उपचार
D. कैल्शियम कार्बोनेट   4. टूथपेस्ट

4. शराब तथा उनका निर्माण
A. ह्विस्की/बीयर       1. जौ
B. वाइन/शैंपेन          2. अंगूर
C. रम                       3. शीरा
D. जिन                     4. मक्का
5. कांच तथा उनका उपयोग
A. सोडा कांच      1. बोतल /ट्यूब लाइट
B. पोटाश कांच    2. अग्निशह उपकरण
C. फ्लिंट कांच      3. लेंस /कैमरा/दूरबीन
D. क्रुक्स कांच       4. धूप चश्मा

6. औषधि तथा उनका निर्माण
A. वेरोनाॅल    1. यूरिया
B. कुनैन        2. सिन्कोना
C. एस्प्रिन      3. एसिटिक एन हाइड्राइड
D. सैकरीन     4. बेंजोइक एसिड

7. कडुवापन/तीखापन
A. मूली         1. आइसोसाइनेट
B. मिर्च         2. केप्सिन
C. करेला       3. मेमोर्डिकोसाइट
D. अरबी       4. कैल्शियम आक्जिलेट

8. अयस्क
A. लोहा            1. हिमेटाइट/मैग्नेटाइट
B. एल्युमिनियम 2. बाक्साइट/कोरंडम
C. ताँबा             3. क्यूप्राइट
D. पारा              4. सिनेबार

9. अयस्क
A. कैल्शियम        1. डोलोमाइट
B. सीसा               2. गैलेना
C. चाँदी                3. अर्जेन्टाइट
D. हीरा                 4. किम्बरलाइट

10. हानिकारक तत्व तथा प्रभावित अंग
A. सीसा       1. मस्तिष्क
B. पारा         2. उदर
C. एस्बेस्टस   3. फेफडा़
D.फ्लोराइड    4. दाँत
Read full here

विटामिन की कमी कोबाल्ट प्लीस्टोसीन युग भोजन का पाचन अवशोषण सर्वदाता सर्वग्राही रक्त समूह निषेचन लाल श्वेत रक्त कणिका

 विटामिन की कमी कोबाल्ट प्लीस्टोसीन युग भोजन का पाचन अवशोषण सर्वदाता तथा सर्वग्राही रक्त समूह निषेचन लाल तथा श्वेत रक्त कणिका

विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी, विज्ञान और प्रौद्योगिकी के प्रश्न और उत्तर

1. लाल सागर के लाल रंग होने का कारण है?
ट्राइकोडेस्मियम नामक शैवाल

2.पशुचारा के विषाक्त होने का कारण है?
आर्सेनिक

3.आधुनिक मानव क्रोमैग्नन का उदय हुआ?
प्लीस्टोसीन युग में

4.वह विटामिन जिसमें कोबाल्ट पाया जाता है?
विटामिन बी-12

5. किस विटामिन की कमी से  रक्त का थक्का नहीं बनता?
विटामिन K

6. भोजन का पाचन तथा अवशोषण होता है?
छोटी आंत में
7. सर्वदाता तथा सर्वग्राही रक्त समूह क्रमशः है?
"O" तथा "AB"

8. मानव में निषेचन क्रिया होती है?
फैलोपियन ट्यूब में

9. मानव शरीर का सबसे बड़ी तथा छोटी हड्डी क्रमशः है?
फीमर तथा स्टेप्स

10.लाल तथा श्वेत रक्त कणिकाओं कि निर्माण होता है?
अस्थिमज्जा में
Read full here

जजिया कर का इतिहास किसने लगाया शुरुआत, जजिया कर और ब्राह्मण, जकात जिझिया कर

जजिया कर का इतिहास, जजिया कर किसने लगाया, जजिया कर किसने समाप्त किया, जजिया कर की शुरुआत, जजिया कर हिस्ट्री इन हिंदी,
जज़िया कर, जजिया कर और ब्राह्मण, जकात कर, जिझिया कर

इस्लामी कानून के तहत, जज़िया एक प्रतिव्यक्ति कर है, जिसे एक इस्लामिक राष्ट्र द्वारा इसके गैर मुस्लिम पुरुष नागरिकों पर जो कुछ मानदंडों को पूरा करते हों, पर लगाया जाता है। यह कर उन गैर मुस्लिम योग्य या स्वस्थ शरीर वाले वयस्क पुरुषों पर लगाया जाता है/था जिनकी आयु सेना मे काम करने लायक हो/होती थी साथ ही वो इसे वहन करने मे सक्षम हों/होते थे। कुछ अपवादों को छोड़कर, लेकिन कई बार इसे सभी गैर मुस्लिमों पर बिना किसी शर्त के लगाया गया है।

जजिया कर की शुरूवात तो मुहम्मद बिन कासिम ने ही की थी , तो सल्तनतकालीन किसी भी सुल्तान द्वारा इस कर की शुरूवात का प्रश्न अनिर्धार्य है जहां तक प्रश्न है फिरोजशाह तुगलक का तो वह पहला शासक था जिसने ब्राह्मणों पर भी यह शुल्क प्रारम्भ

मुस्लिम शासकों ने ज़िम्मियों के साथ सहिष्णुतापूर्वक व्यवहार किया और उन्हें अपने धर्म का पालन करने की इजाज़त दी। इस संरक्षण के बदले और अधीनता के रूप में ज़िम्मियों को एक ख़ास व्यक्ति कर चुकाना आवश्यक था, जो जज़िया कहलाया।

ब्राह्माणो पर भी जजिया लगान वाला दिल्ली सुल्तान कौन था
फिरोज तुगलक
Read full here

भ्रष्टाचार की शिकायत आय से अधिक संपत्ति की शिकायत कब, कहा और कैसे की जा सकती है पीएमओ ऑनलाइन शिकायत पोर्टल नंबर prevention of corruption act 2013 PDF भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम

कब, कहा और कैसे की जा सकती है शिकायत, भ्रष्टाचार की शिकायत, आय से अधिक संपत्ति की शिकायत कहा करे, ऑनलाइन शिकायत दर्ज, शिकायत दर्ज करें, शिकायत पत्र नमूना, पीएमओ शिकायत पोर्टल, पीएमओ शिकायत नंबर, लोक शिकायत, उपभोक्ता फोरम शिकायत नंबर, आय से अधिक संपत्ति की शिकायत कैसे करे, आय से अधिक संपत्ति क्या है, आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो, आर्थिक अपराध शाखा, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 1988 pdf, शिकायती पत्र प्रारूप, ऑनलाइन शिकायत दर्ज, पीएमओ शिकायत पोर्टल, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 2013, भ्रष्टाचार प्रतिबंध कायदा, लाचलुचपत प्रतिबंधक कायदा 1988, भ्रष्टाचार रोकने के उपाय, राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम, भ्रष्टाचार क्या है, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम कब पारित हुआ, prevention of corruption act 2013, आय से अधिक संपत्ति की शिकायत कहा करे, आय से अधिक. संपत्ति in english, आय से अधिक संपत्ति की शिकायत कैसे करे, शिकायती पत्र प्रारूप, शिकायत दर्ज, प्रधानमंत्री को पत्र कैसे लिखें, ऑनलाइन शिकायत दर्ज

रोज़ अख़बारों में राष्ट्रपित, प्रधानमंत्री, अन्य मंत्रियों, राजनितिक पार्टियों, जाने-माने अखबारों के संपादकों  और कुछ अन्य प्रतिष्ठिति लोगों की भ्रष्टाचार परलम्बी-चौड़ी भाषण सुनते हैं लेकिन वे उसे मिटाने  के लिये सतही धरातल पर कोई काम नहीं  करते |

भारत सरकार द्वारा अखिल-भारत एवं अंतरराज्य में विभाजित भारत की सुरक्षा, उच्च स्थानों पर भ्रष्टाचार, गम्भीर छल, धोखाधड़ी एवं हेराफेरी एवं सामाजिक अपराधों विशेषकर आवश्यक जिंसों की जमाखोरी एवं मुनाफाखोरी जैसे गम्भीर अपराधों का अन्वेषण करने की दृष्टि से केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) का गठन किया गया।

जब किसी गाँव के बिजली का ट्रांसफार्मर जल जाता है तो बिना घूस खिलाये  या  धरना-प्रदर्शन किये बिना विद्युत विभाग काम नहीं करता, लेकिन  भ्रष्टाचार पर लगाम लगते ही किसी भी आम जनता  की विद्युत विभाग में एक फ़ोन ही काफी होगा और एक दिन में ट्रांसफार्मर लग जायेगा, या पासपोर्ट बनवाने के लिए पुलिस द्वारा घूस माँगने पर दूसरे दिन ही उसकी छुट्टी हो जाएगी |

सेंट्रल विजिलेंस कमिशन (सीवीसी)

सीवीसी को सीधे पत्र लिखकर शिकायत की जा सकती है। सीवीसी की वेबसाइट www.cvc.nic.in पर भी शिकायत दर्ज की जा सकती है।
फोन: 011-2465 1001-08

अधिकार क्षेत्र में आनेवाले मंत्रालय/विभाग

केंद्र सरकार के मंत्रालय/विभाग, केंद्र सरकार के सभी पीएसयू, नैशनलाइज्ड बैंक, रिजर्व बैंक, नाबार्ड और सिडबी, सरकारी बीमा कंपनियां, पोर्ट ट्रस्ट व डॉक लेबर बोर्ड आदि। इसके अलावा दिल्ली, चंडीगढ़, दमन एवं दीव, पांडिचेरी आदि समेत सभी केंद्र शासित प्रदेश।

जांच के दायरे में आनेवाले अधिकारी

सीवीसी अपने अधिकार क्षेत्र में आनेवाले संगठनों में तैनात अधिकारियों की कुछ श्रेणियों के खिलाफ ही जांच कर सकता है, जो इस प्रकार हैं:

केंद्रीय सरकारी मंत्रालय/विभाग: ग्रुप ए और उससे ऊपर के अधिकारी (अंडर सेक्रेटरी और इससे ऊपर के अधिकारी)

पब्लिक सेक्टर यूनिट (पीएसयू): बोर्ड लेवल और उससे दो लेवल नीचे तक के अधिकारी

पब्लिक सेक्टर के बैंक: स्केल V और इससे ऊपर के अधिकारी

रिजर्व बैंक, सिडबी और नाबार्ड: ग्रेड डी या इससे ऊपर के अधिकारी

बीमा क्षेत्र: असिस्टेंट मैनेजर और इससे ऊपर के अधिकारी

जीवन बीमा निगम: सीनियर डिविजनल मैनेजर और इससे ऊपर के अधिकारी

स्वायत्त निकाय: 8700 रुपये या ज्यादा बेसिक सैलरी पानेवाले अधिकारी

पोर्ट ट्रस्ट/डॉक लेबर बोर्ड: 10,750 रुपये या ज्यादा बेसिक सैलरी पानेवाले अधिकारी

सीवीसी के काम

- ऐसे किसी भी लेन-देन के मामले में जांच करना या कराना, जिसमें केंद्र सरकार के अधीन अधिकारी के शामिल होने का शक हो।

- केंद्र सरकार के मंत्रालयों/विभागों और उसके नियंत्रण में आनेवाले दूसरे संगठनों के सतर्कता और भ्रष्टाचार निवारण संबंधी कामों की सामान्य जांच और निगरानी करना।

- विजिलेंस संबंधी मामलों में स्वतंत्र और निष्पक्ष सलाह देना।

- भ्रष्टाचार के किसी भी आरोप को सामने लाना और उस पर उचित कार्रवाई की सिफारिश करना।

- सीबीआई और एनफोर्समेंट डायरेक्ट्रेट के अलावा दिल्ली की स्पेशल सेल के उच्च अधिकारियों की चयन समितियों की अध्यक्षता करना।

- सीवीसी के अधिकार क्षेत्र में आनेवाले अधिकारियों और संगठनों के खिलाफ की गई भ्रष्टाचार संबंधी शिकायतों की जांच सीबीआई या संबंधित संगठन के चीफ विजिलेंस ऑफिसर द्वारा कराई जाती है।

- टेंडरों के खिलाफ शिकायतों के बारे में सीवीसी संबंधित विजिलेंस ऑफिसर के माध्यम से जांच कराता है, लेकिन टेंडर प्रक्रिया में हस्तक्षेप नहीं करता। सीवीओ की रिपोर्ट के आधार पर ही सीवीसी मामले में आगे कार्रवाई करता है।

यदि सीबीआई को किसी प्रमाणिक सूचनाकर्ता से किसी इच्छुक रिश्वत देने वाले या रिश्वत लेने वाले के संबंध में रिश्वत सौंपे जाने से पहले ही सूचना प्राप्त होती है तो वह वैसी सूचना का सत्यापन कर रिश्वत देने वाले और रिश्वत लेने वाले दोनों को रंगे हाथों पकड़ने हेतु ट्रैप बिछाती है।

किसी लोक सेवक द्वारा आमदनी के ज्ञात स्रोतों से अधिक संपत्ति रखना या खर्च करना भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम, 1988 की धारा 13 के तहत दंडनीय है। सीबीआई जनता से वैसे लोक सेवकों की संपत्तियों एवं खर्चे का विशिष्ट विवरण उपलब्ध कराने हेतु निवेदन करती है। सामान्य एवं अस्पष्ट सूचना उपलब्ध कराने से कोी मदद

नहीं मिलती है। वैसी विशिष्ट विवरण प्राप्त होने पर सीबीआई उसकी गोपनीय सत्यापन करता है और यदि सूचना सत्य पाई जाती है तो आपराधिक मामला दर्ज कर वैसे लोक सेवकों के परिसर पर छापा मारता है।

Himachal Pradesh सरकारी विभागों में भ्रष्टाचार के मामलों की रिपोर्ट करने के लिए टोल फ्री नंबर 0177-2629893 की सुविधा दी है।

कोई भी ग्राहक या गैर-सरकारी संगठन कम वजन तौलने या नापने की लिखित शिकायत स्टैंर्डड्स ऑफ वेट्स ऐंड मेजर्स (एनफोर्समेंट) ऐक्ट 1985 के तहत कर सकता है।
Read full here
 

Usage Rights

Information About Helpline and Toll Free Number Lists are Provided with Updated Content.