भ्रष्टाचार की शिकायत आय से अधिक संपत्ति की शिकायत कब, कहा और कैसे की जा सकती है पीएमओ ऑनलाइन शिकायत पोर्टल नंबर prevention of corruption act 2013 PDF भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम

कब, कहा और कैसे की जा सकती है शिकायत, भ्रष्टाचार की शिकायत, आय से अधिक संपत्ति की शिकायत कहा करे, ऑनलाइन शिकायत दर्ज, शिकायत दर्ज करें, शिकायत पत्र नमूना, पीएमओ शिकायत पोर्टल, पीएमओ शिकायत नंबर, लोक शिकायत, उपभोक्ता फोरम शिकायत नंबर, आय से अधिक संपत्ति की शिकायत कैसे करे, आय से अधिक संपत्ति क्या है, आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो, आर्थिक अपराध शाखा, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 1988 pdf, शिकायती पत्र प्रारूप, ऑनलाइन शिकायत दर्ज, पीएमओ शिकायत पोर्टल, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम 2013, भ्रष्टाचार प्रतिबंध कायदा, लाचलुचपत प्रतिबंधक कायदा 1988, भ्रष्टाचार रोकने के उपाय, राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम, भ्रष्टाचार क्या है, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम कब पारित हुआ, prevention of corruption act 2013, आय से अधिक संपत्ति की शिकायत कहा करे, आय से अधिक. संपत्ति in english, आय से अधिक संपत्ति की शिकायत कैसे करे, शिकायती पत्र प्रारूप, शिकायत दर्ज, प्रधानमंत्री को पत्र कैसे लिखें, ऑनलाइन शिकायत दर्ज

रोज़ अख़बारों में राष्ट्रपित, प्रधानमंत्री, अन्य मंत्रियों, राजनितिक पार्टियों, जाने-माने अखबारों के संपादकों  और कुछ अन्य प्रतिष्ठिति लोगों की भ्रष्टाचार परलम्बी-चौड़ी भाषण सुनते हैं लेकिन वे उसे मिटाने  के लिये सतही धरातल पर कोई काम नहीं  करते |

भारत सरकार द्वारा अखिल-भारत एवं अंतरराज्य में विभाजित भारत की सुरक्षा, उच्च स्थानों पर भ्रष्टाचार, गम्भीर छल, धोखाधड़ी एवं हेराफेरी एवं सामाजिक अपराधों विशेषकर आवश्यक जिंसों की जमाखोरी एवं मुनाफाखोरी जैसे गम्भीर अपराधों का अन्वेषण करने की दृष्टि से केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) का गठन किया गया।

जब किसी गाँव के बिजली का ट्रांसफार्मर जल जाता है तो बिना घूस खिलाये  या  धरना-प्रदर्शन किये बिना विद्युत विभाग काम नहीं करता, लेकिन  भ्रष्टाचार पर लगाम लगते ही किसी भी आम जनता  की विद्युत विभाग में एक फ़ोन ही काफी होगा और एक दिन में ट्रांसफार्मर लग जायेगा, या पासपोर्ट बनवाने के लिए पुलिस द्वारा घूस माँगने पर दूसरे दिन ही उसकी छुट्टी हो जाएगी |

सेंट्रल विजिलेंस कमिशन (सीवीसी)

सीवीसी को सीधे पत्र लिखकर शिकायत की जा सकती है। सीवीसी की वेबसाइट www.cvc.nic.in पर भी शिकायत दर्ज की जा सकती है।
फोन: 011-2465 1001-08

अधिकार क्षेत्र में आनेवाले मंत्रालय/विभाग

केंद्र सरकार के मंत्रालय/विभाग, केंद्र सरकार के सभी पीएसयू, नैशनलाइज्ड बैंक, रिजर्व बैंक, नाबार्ड और सिडबी, सरकारी बीमा कंपनियां, पोर्ट ट्रस्ट व डॉक लेबर बोर्ड आदि। इसके अलावा दिल्ली, चंडीगढ़, दमन एवं दीव, पांडिचेरी आदि समेत सभी केंद्र शासित प्रदेश।

जांच के दायरे में आनेवाले अधिकारी

सीवीसी अपने अधिकार क्षेत्र में आनेवाले संगठनों में तैनात अधिकारियों की कुछ श्रेणियों के खिलाफ ही जांच कर सकता है, जो इस प्रकार हैं:

केंद्रीय सरकारी मंत्रालय/विभाग: ग्रुप ए और उससे ऊपर के अधिकारी (अंडर सेक्रेटरी और इससे ऊपर के अधिकारी)

पब्लिक सेक्टर यूनिट (पीएसयू): बोर्ड लेवल और उससे दो लेवल नीचे तक के अधिकारी

पब्लिक सेक्टर के बैंक: स्केल V और इससे ऊपर के अधिकारी

रिजर्व बैंक, सिडबी और नाबार्ड: ग्रेड डी या इससे ऊपर के अधिकारी

बीमा क्षेत्र: असिस्टेंट मैनेजर और इससे ऊपर के अधिकारी

जीवन बीमा निगम: सीनियर डिविजनल मैनेजर और इससे ऊपर के अधिकारी

स्वायत्त निकाय: 8700 रुपये या ज्यादा बेसिक सैलरी पानेवाले अधिकारी

पोर्ट ट्रस्ट/डॉक लेबर बोर्ड: 10,750 रुपये या ज्यादा बेसिक सैलरी पानेवाले अधिकारी

सीवीसी के काम

- ऐसे किसी भी लेन-देन के मामले में जांच करना या कराना, जिसमें केंद्र सरकार के अधीन अधिकारी के शामिल होने का शक हो।

- केंद्र सरकार के मंत्रालयों/विभागों और उसके नियंत्रण में आनेवाले दूसरे संगठनों के सतर्कता और भ्रष्टाचार निवारण संबंधी कामों की सामान्य जांच और निगरानी करना।

- विजिलेंस संबंधी मामलों में स्वतंत्र और निष्पक्ष सलाह देना।

- भ्रष्टाचार के किसी भी आरोप को सामने लाना और उस पर उचित कार्रवाई की सिफारिश करना।

- सीबीआई और एनफोर्समेंट डायरेक्ट्रेट के अलावा दिल्ली की स्पेशल सेल के उच्च अधिकारियों की चयन समितियों की अध्यक्षता करना।

- सीवीसी के अधिकार क्षेत्र में आनेवाले अधिकारियों और संगठनों के खिलाफ की गई भ्रष्टाचार संबंधी शिकायतों की जांच सीबीआई या संबंधित संगठन के चीफ विजिलेंस ऑफिसर द्वारा कराई जाती है।

- टेंडरों के खिलाफ शिकायतों के बारे में सीवीसी संबंधित विजिलेंस ऑफिसर के माध्यम से जांच कराता है, लेकिन टेंडर प्रक्रिया में हस्तक्षेप नहीं करता। सीवीओ की रिपोर्ट के आधार पर ही सीवीसी मामले में आगे कार्रवाई करता है।

यदि सीबीआई को किसी प्रमाणिक सूचनाकर्ता से किसी इच्छुक रिश्वत देने वाले या रिश्वत लेने वाले के संबंध में रिश्वत सौंपे जाने से पहले ही सूचना प्राप्त होती है तो वह वैसी सूचना का सत्यापन कर रिश्वत देने वाले और रिश्वत लेने वाले दोनों को रंगे हाथों पकड़ने हेतु ट्रैप बिछाती है।

किसी लोक सेवक द्वारा आमदनी के ज्ञात स्रोतों से अधिक संपत्ति रखना या खर्च करना भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम, 1988 की धारा 13 के तहत दंडनीय है। सीबीआई जनता से वैसे लोक सेवकों की संपत्तियों एवं खर्चे का विशिष्ट विवरण उपलब्ध कराने हेतु निवेदन करती है। सामान्य एवं अस्पष्ट सूचना उपलब्ध कराने से कोी मदद

नहीं मिलती है। वैसी विशिष्ट विवरण प्राप्त होने पर सीबीआई उसकी गोपनीय सत्यापन करता है और यदि सूचना सत्य पाई जाती है तो आपराधिक मामला दर्ज कर वैसे लोक सेवकों के परिसर पर छापा मारता है।

Himachal Pradesh सरकारी विभागों में भ्रष्टाचार के मामलों की रिपोर्ट करने के लिए टोल फ्री नंबर 0177-2629893 की सुविधा दी है।

कोई भी ग्राहक या गैर-सरकारी संगठन कम वजन तौलने या नापने की लिखित शिकायत स्टैंर्डड्स ऑफ वेट्स ऐंड मेजर्स (एनफोर्समेंट) ऐक्ट 1985 के तहत कर सकता है।
Read full here

आधार कार्ड लोन योजना लोन कैसे लेते हैं तरीका ब्याज बैंक फाइनेंस कम्पनी सूची जानकारी Loan Finance Company उत्कर्ष स्मॉल फाइनेंस बैंक चोलामंडलम फाइनेंस कंपनी

प्रधानमंत्री आवास योजना होम लोन के लिए बैंकों और आवास वित्त कंपनियों की पूरी सूची, बैंकों फाइनेंस कम्पनी सूची, चोला फाइनेंस, toll free number sbi, चोलामंडलम फाइनेंस कंपनी, chola app, उत्कर्ष स्मॉल फाइनेंस बैंक, उत्कर्ष बैंक ब्रांचेज, उत्कर्ष बैंक सैलरी, गैर बैंकिंग वित्तीय संस्थान, एनबीएफसी, nbfc in hindi, एनबीएफसी अर्थ, वित्तीय संस्था क्या है, नॉन बैंकिंग फाइनेंसियल कम्पनीज, nbfc list, वित्तीय संस्था मराठी, गैर बैंकिंग वित्तीय मध्यस्थ, लोन देने वाली कंपनी, लोन सुविधा, लोन के प्रकार, पर्सनल लोन सबी, लोन चाहिए, लोन चाहिए मुझे, लोन कैसे ले, लोन लेना है, लोन लेना है 2017, लोन लेना है, लोन लेने का तरीका, लोन पर ब्याज, आधार कार्ड लोन योजना, आधार कार्ड पर लोन, आधार कार्ड पर लोन कैसे लेते हैं, मुद्रा लोन की जानकारी, बिजनेस लोन लेना है, आधार कार्ड से लोन, आधार लोन योजना, आधार कार्ड लोन फॉर्म

लोन लेने का तरीका हिंदी में, होम लोन लेने का तरीका, मुद्रा लोन की जानकारी, लोन के प्रकार, लोन योजना, लोन पर ब्याज, रिलायंस लोन नंबर, लोन सुविधा, चोलामंडलम फाइनेंस कंपनी, cholamandalam finance career, चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस कंपनी लिमिटेड agra, uttar pradesh, चोला फाइनेंस, चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस कंपनी लिमिटेड noida uttar pradesh, चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस कंपनी लिमिटेड new delhi delhi, चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस कंपनी लिमिटेड patna bihar, cholamandalam general insurance, cholamandalam share price

FD पर लोन फौरन पैसों का इंतजाम करने का यह आपके पास मौजूद सबसे सरल तरीका है। बैंक अपने यहां कराई गई एफडी पर भी आसानी से लोन दे देते हैं। इस तरह से लोन लेने पर आपको तय वक्त के अंदर ही रकम को चुकाना पड़ेगा।

एक होम लोन के लिए कई डॉक्यूमेंट्स चाहिए होते हैं. बैंक आपसे प्रोसेसिंग फी चेक, करीब 6 कैंसल्ड चेक और उस अकाउंट के लिए ईसीएस मैनडेट फॉर्म जरूरी है जहां आपकी सैलरी या इनकम क्रेडिट की जाती है. खुद का रोजगार करने वालों से एजूकेशन, क्वॉलिफिकेशन सर्टिफिकेट और बिजनस का सबूत मांगे जा सकते हैं. प्रॉपर्टी से संबंधित डॉक्यूमेंट्स में अलॉटमेंट लेटर या बायर अग्रीमेंट और डिवेलपर को किए गए पेमेंट की रिसीट शामिल होती है. लिहाजा बेहद जरूरी है कि आप सभी जरूरी डॉक्यूमेंट्स रखें ताकि लोन डिलिवरी प्रोसेस तेजी से हो सके और बैंक के पास आपकी होम लोन एप्लीकेशन को पास करना ही पड़े.

लोन के लिए आवेदन करने से पहले अपने बैंक अकाउंट पर ध्यान दें. इसकी वजह ये है कि लोन मांगने पर बैंक हम से कम से कम 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट मांगता है. बैंक हमारे बैंक डिटेल्स की पूरी गहराई से जांच करता है और कोई भी कमी को लाल रंग से दिखाता है. यह किसी बाउंस चेक, ईएमआई का भुगतान नहीं होने आदि का मामला हो सकता है. अगर हम महीने के अंत में आपके बैंक खाते में बहुत ही कम राशि होती है तो भी इसका मतलब यह है कि आपकी महीने की इनकम इतनी कम है कि महीने के अंत होने तक आपकी डिपॉजिट पूंजी ज्यादातर खत्म हो जाती है, ऐसे में आप होम लोन का बोझ बर्दाश्त नहीं कर पाएंगे. इसलिए बैंक आपके होम लोन की अर्जी को खारिज भी कर सकता है. तो अपने बैंक खाते को सेहतमंद बनाए रखें.

1.    Aadhar Housing Finance Ltd.    www.aadharhousing.com   
2.    Aditya Birla Housing Finance Ltd.    www.adityabirlahomeloans.com   
3.    Akme Star Housing Finance Ltd.    www.akmestarhousing.com   
4.    Aptus Value Housing Finance India Ltd.    www.aptusindia.com   
5.    Aspire Home Finance Corporation Ltd.    www.ahfcl.com   
6.    AU Housing Finance Ltd.    www.auhfin.in   
7.    Can Fin Homes Ltd.    www.canfinhomes.com   
8.    Capital First Home Finance Ltd.    www.capfirst.com   
9.    Capri Global Housing Finance Private Limited    www.cgcl.co.in   
10.    Cent Bank Home Finance Ltd.    www.cbhfl.com   
11.    Dewan Housing Finance Corporation Ltd.    www.dhfl.com   
12.    DHFL Vyasa Housing Finance Ltd.    www.dvhousing.com   
13.    DMI Housing Finance Pvt. Ltd.    www.dmihousingfinance.in   
14.    Edelweiss Housing Finance Ltd.    www.edelweissfin.com   
15.    Fast Track Housing Finance Pvt. Ltd.    www.fasttrackhfc.com   
16.    Fullerton Home Finance Company Ltd.    www.fullertonindia.com   
17.    GIC Housing Finance Ltd.    www.gichfindia.com   
18.    GRUH Finance Ltd.    www.gruh.com   
19.    Habitat Microbuild India Housing Finance Company Pvt. Ltd.    www.microbuildindia.com   
20.    HBN Housing Finance Ltd.    www.hbnhousing.com   
21.    Hinduja Housing Finance Limited    www.hindujahousingfinance.com   
22.    Home First Finance Company India Pvt. Ltd.    www.homefirstindia.com   
23.    Housing and development Corporation Ltd.    www.hudco.org   
24.    Housing Development Finance Corporation Ltd.    www.hdfc.com   
25.    ICICI Home Finance Company Ltd.    www.icicihfc.com   
26.    India Bulls Housing Finance Ltd.    www.indiabullshomeloans.com   
27.    India Home Loan Ltd.    www.indiahomeloan.co.in    INDH1101
28.    India Infoline Housing Finance Ltd.    www.iiflhomeloans.com   
29.    India Shelter Finance Corporation Ltd.    www.indiashelter.in   
30.    Khush Housing Finance Ltd.    www.khfl.co.in   
31.    L & T Housing Finance Ltd.    www.lthousingfinance.com   
32.    LIC Housing Finance Ltd.    www.lichousing.com   
33.    Magma Housing Finance    www.magmahfc.co.in   
34.    Mahindra Rural Housing Finance Ltd.    www.mahindrahomefinance.com   
35.    Mamata Housing Finance Company Pvt. Ltd.    www.mamtahousingfinance.com   
36.    Manipal Housing Finance Syndicate Ltd.    www.manipalhousing.com   
37.    Mannappuram Home Finance Pvt. Ltd.    www.manappuram.com   
38.    MAS Rural Housing and Mortgage Finance Ltd.    www.mrhmfl.co.in   
39.    Mentor Home Loans India Ltd.    www.mentorhousing.com   
40.    Micro Housing Finance Corporation Ltd.    www.mhfcindia.com   
41.    Muthoot Homefin(India) Ltd.    www.muthootfinance.com   
42.    Muthoot Housing Finance Company Ltd.    www.muthootgroup.com   
43.    National Trust Housing Finance Ltd.    www.natrusthome.com   
44.    New Habitat Housing Finance and Development Ltd.    www.newhabitat.in   
45.    Nivara Home finance limited    www.nivarahousing.com   
46.    North East Region Housing Finance Company Ltd.    www.nerhofic.co.in   
47.    Orange City Housing Finance Ltd.    www.ochfl.com   
48.    Panthoibi Housing Finance Company Ltd.    www.phfcl.org.in   
49.    PNB Housing Finance Ltd.    www.pnbhousing.com   
50.    RAAS Housing Finance (India) Ltd.    www.raashfc.com   
51.    Reliance Home Finance Ltd.    www.reliancehomefinance.com   
52.    Religare Housing Development Finance Corporation Ltd.    www.religarehomeloans.com   
53.    Repco Home Finance Ltd.    www.repcohome.com   
54.    Sahara Housing Fina Corporation Ltd.    www.saharahousingfina.com   
55.    Saral Home Finance Ltd.    www.saraldhan.com   
56.    SEWA Grih Rin Ltd.    www.sgrlimited.in   
57.    Shriram Housing Finance Ltd.    www.shriramhousing.in   
58.    Shubham Housing Development Finance Company Pvt. Ltd.    www.shubham.co   
59.    SRG Housing Finance Ltd.    www.srghousing.com   
60.    Sundaram BNP Paribas Home Finance Ltd.    www.sundarambnpparibashome.com   
61.    Supreme Housing Finance Limited    www.supremehomeloans.com   
62.    Swagat Housing Finance Company Ltd.    www.swagathfc.in   
63.    Swarna Pragati Housing Microfinance Private Limited    www.swarnapragatihousing.com   
64.    Tata Capital Housing Finance Ltd.    www.tatacapitalhfl.com   
65.    USB Housing Finance Corporation Ltd.    www.usbhousing.in   
66.    Vastu Housing Finance Corporation Ltd.    www.vastuhfc.com   
67.    Viva Home Finance Ltd.    www.vivagroup.in   
68.    West End Housing Finance Limited    www.westendhfl.com   
69.    Ummeed Housing Finance Private Limited    www.ummeedhfc.com   
70.    IKF Housing Finance Private Limited    www.ikffinance.com   
71.    Centrum Housing Finance Ltd.    www.centrum.co.in   
72.    Manibhavnam Home Finance India Pvt. Ltd.    www.manibhavnam.com   
73.    Bee Secure Home Finance Pvt. Ltd.    www.incred.com   
74.    IndoStar Home Finance Pvt. Ltd.    www.indostarcapital.com   
75.    KIFS Housing Finance Pvt. Ltd.    www.kifshousing.com   

SMALL FINANCE BANKS
1.    Ujjivan Small Finance Bank    www.ujjivan.com   
2.    Utkarsh Small Finance Bank Ltd.    www.utkarshmfi .com   
3.    AU Financiers Ltd.    www.aufin.in   
4.    Suryoday Small Finance Bank Ltd.    www.suryodaybank.com   
5.    Equitas Small Finance Bank    www.equitasbank. com   
NBFC-MFI
1.    Satya Micro Capital Ltd.    www. satyamicrocapital. com   
2.    Spandana Sphoorty Financial Ltd.    www.spandanaindia.com   
3.    Digamber Capfin Limited    www.digamberfinance.com   
4.    SV Creditline Private Limited    www.svcl.in   
5.    Annapurna Micro Finance Pvt. Ltd.    www.ampl.net.in   
6.    Margdarshak Financial Services limited    www.margdarshak.org.in   
Read full here

नोबेल पुरस्कार शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन, चिकित्सा विज्ञान और अर्थशास्त्र Nobel Prize नोबेल पुरस्कार क्यों शुरू किया गया नोबेल पुरस्कार की शुरूआत

दुनिया के सबसे बड़े पुरस्कार Nobel Prize (नोबेल पुरस्कार) के बारे में।

1. Nobel Prize की शुरूआत, बारूद (dynamite) बनाने वाले “Alfred Nobel” के नाम पर की गई थी।

2. नोबेल पुरस्कार शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन, चिकित्सा विज्ञान और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में दुनिया का सबसे बड़ा पुरस्कार है। अर्थशास्त्र के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार की शुरूआत सन् 1968 में हुई।

3. Alfred Nobel ने मरने से पहले अपनी संपत्ति का एक बड़ा हिस्सा एक ट्रस्ट के लिए रख दिया था। उनकी इच्छा थी, कि इन पैसो के ब्याज से हर साल उन लोगो को सम्मानित किया जाए जिन्हें मानव जाति के लिए सबसे कल्याणकारी पाया गया। ये पैसे स्वीडिश बैंक में जमा है और इन्हीं के ब्याज से हर साल नोबेल पुरस्कार दिया जाता है।

4. 1901 से लेकर 2015 तक कुल 573 नोबेल पुरस्कार बाँटे गए है। अभी तक 5 ऐसे लोगो को Nobel Prize मिल चुका है जिनके पास भारतीय नागरिकता है और 3 ऐसे लोगो को जो भारतीय मूल के है।

5. Physics (भौतिकी), Chemistry (रसायन), Literature (साहित्य), Physiology or Medicine (चिकित्सा और विज्ञान) and Economic Sciences (अर्थशास्त्र) में Nobel Prize, Sweden की राजधानी Stockholm में दिया जाता है। लेकिन Nobel Peace Prize (नोबेल शांति पुरस्कार), Norway की राजधानी Oslo में दिया जाता है।

6. एक नोबेल पुरस्कार ज्यादा से ज्यादा 3 लोगो को ज्वाइंट रूप से दिया जा सकता है इससे ज्यादा को नही।

7. सबसे कम उम्र की नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला युसूफजई है। जिसे 17 साल की उम्र में शांति का नोबेल दिया गया।

8. आज की तारीख तक धरती पर सिर्फ दो इंसान ही ऐसे है जिन्हें Nobel & Oscar दोनो मिले है। पहला “George Bernard Shaw” जिसने 1925 में साहित्य में नोबेल और 82 साल की उम्र में 1938 में ऑस्कर जीता। दूसरा “Bob Dylan” जिसे 2000 में ऑस्कर और 2016 में साहित्य में नोबेल मिला।

9. चार लोगो को अभी तक दो बार नोबेल प्राइज मिल चुका है। लेकिन धरती पर “मैरी क्यूरी” एकमात्र ऐसी महिला हुई है, जिसे 2 बार Nobel Prize मिला है। पहला 1903 में फिजिक्स में (रेडियोएक्टिविटी समझने के लिए) और दूसरा 1911 में केमिस्ट्री में (पोलोनियम व रेडियम की खोज करने के लिए)। मैरी क्यूरी के परिवार को अब तक 5 नोबेल पुरस्कार मिल चुके है। इनके परिवार को Nobel Machine के नाम से भी जाना जाता है। (है ना जबरदस्त, एक ही परिवार में 5 नोबेल प्राइज )

10. इतिहास में 2 बार ऐसा भी हुआ है कि किसी ने अपना नोबल मेडल ही बेच दिया हो। दरअसल, 1962 में DNA Structure खोजने वाले James Watson ने अपना नोबेल मेडल 30 करोड़ रूपए में बेच दिया था। कारण: जातिवाद। दूसरा 1988 में फिजिक्स में नोबेल पुरस्कार हासिल करने वाले Leon M. Lederman ने 5.2 करोड़ रूपए में अपना मेडल बेच दिया था। कारण: बीमारी।

11. इतिहास में 2 बार ऐसा भी हुआ है, कि किसी ने नोबेल प्राइज ही लेने से मना कर दिया हो। 1964 में Jean-Paul Sartre ने साहित्य का और 1973 में Le Duc Tho ने शांति का नोबेल लेने से मना कर दिया।

12. ICRC (International Committee of the Red Cross) को 3 बार (1917, 1944 और 1963) शांति के नोबल से सम्मानित किया जा चुका है। दुनिया का पहला पहला नोबेल पुरस्कार Red Cross के संस्थापक Henry Dunant और French Peace Society के संस्थापक Frederic Passt को सन् 1901 में ज्वाइंट रूप से दिया गया था।

13. रूस के Leonid Hurwicz सबसे ज्यादा उम्र में नोबेल प्राइज जीतने वाले वैज्ञानिक हैं। उन्हें 90 साल की उम्र में इकॉनोमिक साइंसेज कैटेगरी में नोबेल प्राइज से नवाजा गया था।

14. यदि देशों पर नजर डाली जाए तो सबसे ज्यादा नोबेल पुरस्कार पाने वाले देशों में अमेरिका पहले नंबर पर है। दूसरे नंबर पर जर्मनी, इसके बाद ब्रिटेन और फ्रांस का नंबर आता है।

15. 1974 में ये निर्णय लिया गया कि मरने के बाद नोबेल पुरस्कार नही दिया जाएगा। लेकिन यदि किसी की मौत नाम की घोषणा होने के बाद हो जाती है तो उसे नोबेल प्राइज दिया जाता हैं।

16. नोबेल जीतने वाले नामों की घोषणा पहले ही एडवांस में कर दी जाती है लेकिन नोबेल पुरस्कार हर साल 10 दिसंबर को ही दिया जाता हैं इसी दिन Alfred Nobel की मृत्यु हुई थी।

17. Q. Nobel Prize में क्या-क्या दिया जाता है ?
Ans. Nobel Prize जीतने वाले को तीन चीजें दी जाती है:
1. Nobel Diploma. 2. Nobel Medal. 3. Nobel Prize amounts. (approx. $10 lakh)

18. Q. नोबेल पुरस्कार क्यों शुरू किया गया ?
Ans. 1888 में एक अखबार ने अलफ्रेड नोबेल के मरने की खबर छाप दी। जबकि असलियत में मौत उनके भाई की हुई थी। अखबार में लिखा था “मौत के सौदागर की मौत”। अखबार ने डायनामाइट के अविष्कार की बहुत निंदा की। अपनी ही मौत की खबर पढ़कर नोबेल को गहरा सदमा लगा। उन्होनें सोचा क्या मौत के बाद दुनिया उन्हें इसी नाम से पुकारेगी। इसलिए उन्होनें एक वसीयत लिखी जिसमें उसने अपनी संपत्ति का बड़ा हिस्सा एक ट्रस्ट के लिए अलग रख दिया। और आज लोग इन्हें मौत के सौदागर के नाम से नही बल्कि सबसे बड़े पुरस्कार के नाम से जानते है।
Read full here

पुरानी साड़ी का उपयोग साड़ी के सूट पुराने कपड़े का उपयोग बेस्ट यूज

पुरानी साड़ी का उपयोग, साड़ी के सूट, पुराने कपड़े का उपयोग, साड़ी बनाने का तरीका, लहंगा बनाने का तरीका, पुरानी साडी का उपयोग, पुरानी साड़ी के उपयोग, पुराने कपड़ों का उपयोग, साड़ी सूट

पुत्र प्राप्ति के उपाय पुत्र जीवक बीज पुत्र प्राप्ति हेतु गर्भ कैसे धारण करे पुत्रजीवक वृक्ष

साड़ी पहनने के स्टाइल, साड़ी पहने के तरीके, बंगाली साड़ी पहनने का तरीका, साड़ी पहने की स्टाइल, सारी कैसे पहने, साड़ी स्टाइल, साड़ी डिजाइन, साड़ी ब्लाउज

लहंगे की सिलाई, लहंगे की डिजाइन, बच्चों के लहंगे, लहंगा डिजाइनर, दुल्हन का लहंगा, शादी का लहंगा, लहंगा price, लहंगा चुन्नी

पुरानी साड़ी का उपयोग साड़ी के सूट पुराने कपड़े का उपयोग बेस्ट यूज

पुरानी साड़ी के उपयोग, पुरानी साड़ी का उपयोग, साड़ी बनाने का तरीका, पुरानी साडी का उपयोग, नेट साड़ी से सूट, लहंगा बनाने का तरीका, साड़ी से बनी ड्रेस, पुराणी साड़ी का उपयोग

साड़ी के सूट, साड़ी बनाने का तरीका, पुराने कपड़े का उपयोग, पुरानी साड़ी को लुक कैसे दे, लहंगा बनाने का तरीका, पुराने कपड़ों का उपयोग, पुरानी साड़ी के उपयोग, पुरानी साड़ी का बेस्ट यूज

पुराने कपड़े का उपयोग, पुरानी साड़ी का उपयोग, पुराने कपड़े दान, कपड़े से वशीकरण, कपडे से वशीकरण करना, कपडे से वशिकरण इन हिंदी, वस्त्र वशीकरण, कपड़े द्वारा वशीकरण, लाल किताब के वशीकरण टोटके उपाय मंत्र, पति स्त्री प्रेम महिला प्रेमी प्रेमिका

भारतीय महिलाएं किसी भी समारोह पार्टी या शादी के दौरान साड़ी पहनना ही ज्यादा पसंद करती है। साड़ी जितनी ज्यादा मंहगी और सुंदर होती है वो उतनी ही ज्यादा खिलकर नजर आती है। ज्यादा दिन तक उस साड़ी को पहनने से जब आप बोर हो जाये तो आप कुछ नया ट्राई करने का सोचेंगे। तो इसके लिए आपके पास सबसे अच्छा ऑप्शन है कि अाप अपनी पुरानी सिल्क साड़ी से एक से बढ़कर एक सुंदर और स्टाइलिश ड्रैसेज बना सकती है। आप इन साडिय़ो का बेहतर यूज कर सकती हैं।

हम पुरानी साडि़यों का उपयोग करते हैं और हमने इस अभियान का नाम हूज साड़ी नाउ रखा है। फिलहाल इस अभियान के तहत जेवर, बालों की पिन, क्लिप, चूड़ियां, हार और तरह-तरह के हेयरबैंड बनाए जा रहे हैं। जल्द ही हैंड बैग भी बनाए जाने लगेंगे।

इन साड़ी से फुल स्लीव्स पार्टी वियर कुर्ता बनाने का। इसके साथ मैच करता हुआ प्लेन फैब्रिक खरीदें  और प्लाजो, पैरेलल और सलवार  जो पसंद हो बनवा लें। शिफॉन के प्लेन दुपट्टे पर आप साड़ी के किनारे की एम्ब्रॉयडरी लगवाकर इसे हैवी लुक दे सकती हैं।

प्रिंटेड बॉर्डर वाली साडिय़ों का पल्लू अक्सर प्रिंटेड होता है। अगर इस साड़ी के साथ भी ऐसा ही  है तो आप इस पल्लू में प्लेन फैब्रिक एड कर डिजाइनर दुपट्टा तैयार करा सकती हैं।

सिल्क का कुर्ता और स्कर्ट कॉम्बो
सिल्क साढ़ा के स्कर्ट या कुर्ते बनाने की डिजाइन इस समय काफी जोरों पर चल रही है। जो आपके लिए एक सुंदर सा स्टाइलिश लुक प्रदान करती है। कुर्ते को बनने के लिए आप साड़ी के पल्लू का उपयोग सामने की ओर ज्यादा करें इसके साथ ही साड़ी की बॉर्डर को कुर्ते के किनारे की और लगवाएं।

सिल्क की ड्रेस
सिल्क की साड़ी से आप ऐसी वन पीस ड्रेस तैयार करें। जिसमें आप एम्ब्रॉयडरी करके सुंदर लुक दे सके। इस तरह से आपके लुक में और अधिक सुंदर निखार देखने को मिलेगा।

सिल्क का कुर्ता
सिल्क की साड़ी से बने कुर्ते को स्टाइलिश लुक देने के लिए आप इसमें थोड़ी सी तबदीली और कर देगी तो और अधिक सुंदरता इसमें निखर कर आयेगी साथ ही किसी को आभास भी नहीं होगा कि यह कुर्ता साड़ी का बना। इसके लिए आप कुर्ते में साड़ी की बार्डर का उपयोग करें और उसे गोटे या जरी के साथ सुंदर लुक प्रदान करें।

सिल्क के क्रॉप टॉप
सिल्क की साड़ी से तैयार किया गये क्रॉप टॉप काफी सुंदर और स्टाइलिश लगते है। जिसे आप लहंगा, स्कर्ट्स, जींस, पलाजो और सलवार के साथ भी पहन सकती है।

प्लेन कॉर्टन साड़ी से आप एक स्टाइलिश कुर्ता डिजाइन करा सकती हैं। प्लेन फैब्रिक पर पिनटक स्टिचिंग का कुर्ता बेहद सुंदर दिखेगा। ये कुर्ता कभी आउट ऑफ फैशन नहीं होगा। मूड और ऑकेजन के साथ आप इसे प्लेन या प्रिंटेड सलवार के साथ कैरी कर सकती हैं।

हैवी वर्क से सजी इन साड़ियों से आप मिडी, लांग स्कर्ट्स, प्लाजो जैसी कई चीजें बनवा सकती हैं और इन ओल्ड मैटीरियल को ट्रेंडी व फैशनेबल बना सकती हैं ।

साड़ियों का सलवार-सूट, चूड़ीदार-सूट, अनारकली या फिर पटियाला भी बनवा सकती हैं। बनारसी साड़ियों के बॉर्डर को नेक, बाजू व दुपट्टे पर लगाकर उसे हैवी और खूबसूरत दिखा सकती हैं। इसके साथ ही आप इन रेशमी साड़ियों से अपनी बिटिया की फ्रॉक भी बनवा सकती हैं। इसके अलावा आप जरदोजी, हैवी बॉर्डर, गोटा व पैच वर्कवाली साड़ियों को अन्य ड्रेसेज जैसे सूट, प्लाजो, स्कर्ट व लहंगे या फिर घर के इंटीरियर में भी यूज कर सकती हैं।

कतरन भी होते हैं बड़े यूजफुल
ये सबकुछ करने के बाद सभी साड़ियों से कतरन बचना संभव है। इन कतरनों को फेंकने की बजाय आप इनका भी रियूज कर सकती हैं। सभी कतरनों को आपस में जोड़ लें और फिर इस खूबसूरत डिजाइन को कॉटन के प्लेन कपड़े पर सिलाई लगा दें। इस कपड़े को ऊपर से लगाकर आप सोफे व बच्चों की गद्दियां बना सकते हैं। इन गद्दियों में आप रूई या फिर फोम का इस्तेमाल कर सकती हैं। साड़ियों से बनी ये गद्दियां आपके कमरे को एथनिक अंदाज़ में सुंदर दिखाएंगी।

खाली प्लास्टिक की बोतल का दोबारा उपयोग, घर की सजावट का सामान बनाना, बेकार सामान का उपयोग
Read full here

पुत्र प्राप्ति के उपाय पुत्र जीवक बीज पुत्र प्राप्ति हेतु गर्भ कैसे धारण करे पुत्रजीवक वृक्ष

पुत्र प्राप्ति के उपाय, पुत्र जन्म के उपाय, पुत्र प्राप्ति के लिए कृष्ण पक्ष, लड़का पैदा करने के उपाय, पुत्र प्राप्ति के योग, पुत्र प्राप्ति की दवा, पुत्र प्राप्ति हेतु गर्भ कैसे धारण करे, पुत्र प्राप्ति के टोटके, पुत्र जीवक बीज

तरबूज खाने के फायदे नुकसान बीज का लाभ बीजों की गिरी, तरबूज में इंजेक्शन खरबूज की खेती मिलावटी तरबूज

पुत्रजीवक वटी, पुत्रजीवक बीज क्या है, पुत्रजीवक पेड़, पुत्रजीवक औषधि, पुत्रजीवक बीज साइड इफेक्ट्स, पुत्रजीवक पौधा, पुत्रजीवक दवा, पुत्रजीवक वृक्ष, पुत्रजीवक बीज बेनिफिट्स इन हिंदी, शिवलिंगी बीज, पुत्रजीवक पेड़, पुत्रजीवक पौधा, पुत्रजीवक वटी, पुत्र प्राप्ति योग, पुत्रजीवक वृक्ष, पुत्रजीवक बीज फॉर बेबी बॉय, पुत्रजीवक बीज साइड इफेक्ट्स

लाल किताब के वशीकरण टोटके उपाय मंत्र, पति स्त्री प्रेम महिला प्रेमी प्रेमिका

पुत्र प्राप्ति के लिए कृष्ण पक्ष, पुत्र प्राप्ति के योग, पुत्र प्राप्ति हेतु गर्भ कैसे धारण करे, लड़का पैदा करने के उपाय, पुत्र प्राप्ति की दवा, पुत्र प्राप्ति के टोटके, पुत्र पुत्री की प्राप्ति के प्राकृतिक उपाय, पुत्र जन्म के उपाय, पुत्र प्राप्ति के लिए हमें क्या करना चाहिए, पुत्र प्राप्ति के योग, लड़का पैदा करने के उपाय, पुत्र प्राप्ति के लिए कृष्ण पक्ष, पुत्र प्राप्ति के टोटके, पुत्र पुत्री की प्राप्ति के प्राकृतिक उपाय, पुत्र जीवक बीज, पुत्र प्राप्ति हेतु गर्भ कैसे धारण करे

पुत्र प्राप्ति के उपाय आज भी लोगों का यह मानना है कि अगर उन्हें पुत्र प्राप्त नहीं होता है तो उनका वंश मिट जाता है। हमारे पुराने आयुर्वेद ग्रंथों में पुत्र-पुत्री प्राप्ति हेतु दिन-रात, शुक्ल पक्ष-कृष्ण पक्ष तथा माहवारी के दिन से सोलहवें दिन तक का महत्व बताया गया है।

'पुत्र जीवक बीज' को गाय के दूध के साथ मिला के खाने से पुत्र की प्राप्ति होगी.

स्त्री के ऋतु दर्शन के सोलह रात तक ऋतुकाल रहता है,उस समय में ही गर्भ धारण हो सकता है,उसके अन्दर पहली चार रातें निषिद्ध मानी जाती है,कारण दूषित रक्त होने के कारण कितने ही रोग संतान और माता पिता में अपने आप पनप जाते है,इसलिये शास्त्रों और विद्वानो ने इन चार दिनो को त्यागने के लिये ही जोर दिया है।
चौथी रात को ऋतुदान से कम आयु वाला पुत्र पैदा होता है,पंचम रात्रि से कम आयु वाली ह्रदय रोगी पुत्री होती है,छठी रात को वंश वृद्धि करने वाला पुत्र पैदा होता है,सातवीं रात को संतान न पैदा करने वाली पुत्री,आठवीं रात को पिता को मारने वाला पुत्र,नवीं रात को कुल में नाम करने वाली पुत्री,दसवीं रात को कुलदीपक पुत्र,ग्यारहवीं रात को अनुपम सौन्दर्य युक्त पुत्री,बारहवीं रात को अभूतपूर्व गुणों से युक्त पुत्र,तेरहवीं रात को चिन्ता देने वाली पुत्री,चौदहवीं रात को सदगुणी पुत्र,पन्द्रहवीं रात को लक्ष्मी समान पुत्री,और सोलहवीं रात को सर्वज्ञ पुत्र पैदा होता है। इसके बाद की रातों को संयोग करने से पुत्र संतान की गुंजायश नही होती है। इसके बाद स्त्री का रज अधिक गर्म होजाता है,और पुरुष के वीर्य को जला डालता है,परिणामस्वरूप या तो गर्भपात हो जाता है,अथवा संतान पैदा होते ही खत्म हो जाती है।

जिस रात को आपने गर्भ ठहरने के लिए चुना है. उस रात को गर्भ ठहरना चाहिए, न कि सिर्फ सम्भोग होना चाहिए. उसी रात को गर्भ ठहरे यह सुनिश्चित करने के लिए आपको उस रात को 2-3 बार सम्भोग करना चाहिए.

लड़का पैदा करने के लिए पुरुष को अपनी पत्नी के साथ संभोग करने से 6 महीने पहले ही खटाई खाना छोड़ देना चाहिए।
लडका पैदा करने के लिए पुरुष को कई महीनों तक ज्यादा टाईट कपड़े नहीं पहनने चाहिए। ऐसा इसलिए कहा जाता है क्योंकि ज्यादा टाईट कपड़े पहनने से शुक्राणुओं में कमी हो जाती है और लड़की पैदा होती है।

असुरक्षा की भावना जितनी अधिक प्रबल होती जाती है, जीवन की समस्याएं जितनी अधिक होती हैं पुरुष संतान होने की संभावना बढ़ जाती है।

स्थाईत्‍व लगातार बढ़ता जा रहा हो, उसके गुणसूत्रों में वाइ का अनुपात घट जाता होगा। ऐसे में कन्या की प्राप्ति होने की संभावना बहुत हद तक बढ़ जाती है।

शुद्ध देशी घी के गुण फायदे लाभ हींग और घी, गाय के घी के नुकसान

धनवान बनने के गुप्त रहस्य तरीके, अमीर कैसे बने, करोड़पति बनने के टोटके
Read full here

सौरमंडल का सबसे पुराना सबसे बड़ा ग्रह है बृहस्पति

सौरमंडल का सबसे पुराना ग्रह है बृहस्पति : शोध, सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह है बृहस्पति

एक नए शोध के अनुसार, बृहस्पति हमारे सौरमंडल का सबसे बड़ा ही नहीं, सबसे पुराना ग्रह भी है। वैज्ञानिकों का कहना है कि इस विशाल ग्रह का निर्माण सूर्य के निर्माण के 40 लाख वर्ष के भीतर ही हो गया था। अमेरिका स्थित लॉरेंस लिवरमोर नेशनल लैबोरेटरी के अनुसार, ‘धरती, मंगल, चांद और क्षुद्र ग्रहों की तरह बृहस्पति का कोई सैंपल हमारे पास नहीं है। हम विभिन्न उल्का पिंडों के समस्थानिकों के आधार पर बृहस्पति की उम्र का अनुमान लगाते हैं।

इसी आधार पर वैज्ञानिकों ने अनुमान लगाया है कि बृहस्पति हमारे सौरमंडल का सबसे पुराना ग्रह है। वैज्ञानिकों ने कहा कि यह बेहद विशाल ग्रह है और इसकी उपस्थिति से सौरमंडल की कई गतिविधियां निर्धारित होती हैं। इस अध्ययन के अनुसार, बृहस्पति के कोर का निर्माण 10 लाख साल में करीब धरती के 20 गुना द्रव्यमान से हुआ। सौरमंडल के बनने के बाद करीब 30 से 40 लाख साल में यह द्रव्यमान धरती का 50 गुना हो गया। बृहस्पति की उम्र का पता लगने से यह समझने में आसानी होगी कि सौरमंडल अपने वर्तमान स्वरूप में कैसे पहुंचा।
Read full here

लाल किताब के वशीकरण टोटके उपाय मंत्र, पति स्त्री प्रेम महिला प्रेमी प्रेमिका Vashikaran ke prabhavshali totke in hindi

लाल किताब के वशीकरण टोटके, पति स्त्री प्रेम महिला प्रेमी प्रेमिका वशीकरण के आसान उपाय, अचूक मंत्र

Vashikaran ke prabhavshali totke in hindi
लाल किताब के वशीकरण टोटके
पति वशीकरण के उपाय
स्त्री वशीकरण टोटका
लाल किताब के वशीकरण मंत्र
वशीकरण के आसान उपाय
प्रेम वशीकरण मंत्र
लाल किताब के वशीकरण टोटके इन हिंदी
वशीकरण के चमत्कारी उपाय
महिला वशीकरण
स्त्री वशीकरण टोटके
प्रेमी प्रेमिका के अचूक वशीकरण मंत्र टोटके उपाय

अचूक वशीकरण
पानी से वशीकरण
नमक से उपाय
मिठाई से वशीकरण
नमक और हल्दी का वशीकरण
नाम से वशीकरण कैसे करे
बाल से वशीकरण
अचूक मंत्र

आंखों से वशीकरण
छूने से वशीकरण
लौग से वशीकरण
नमक से वशीकरण इन हिंदी
स्त्री वशीकरण के टोटके
वशीकरण के आसान उपाय
महिला वशीकरण
वशीकरण मंत्र विद्या

महिला वशीकरण मंत्र इन हिंदी
स्त्री वशीकरण के टोटके
स्त्री वशीकरण करने के उपाय
स्त्री वशीकरण तंत्र
वशीकरण के आसान उपाय
स्त्री वशीकरण मंत्र हिंदी में
स्त्री वशीकरण शाबर मंत्र
वशीकरण मंत्र विद्या

नाम से वशीकरण
नमक से वशीकरण
स्त्री वशीकरण उपाय
वशीकरण के आसान टोटके
वशीकरण तिलक
वशीकरण मंत्र प्रयोग
फोटो से वशीकरण कैसे करे
प्रेमी को पाने के उपाय

वशीकरण से क्या किया जा सकता हैं।

स्त्री वशीकरण (औरत को वश में करना)
पुरुष वशीकरण (पुरुष को यानिकी पति को वश में करना)
बच्चो को काबू में करना.
अपने गर्लफ्रेंड को काबू में करना.
बॉयफ्रेंड को वश में करना.
व्यापर में प्रगति के लिए.
दुश्मन को वश में करने के लिए.

वशीकरण के प्रभावशाली मंत्र तंत्र

कामदेव वशीकरण मंत्र.
मोहिनी वशीकरण मंत्र.
शाकम्बरी वशीकरण मंत्र.
सिंदूर से वशीकरण.
फोटो से वशीकरण.
बालों से वशीकरण.
आँखों से वशीकरण.
नाख़ून से वशीकरण.
नाम से वशीकरण

पति को वश में करने का टोटका ,” अगर आप अपने पति या प्रेमी को अपने वश में करना चाहते हो तो दिए गए आसान उपाय का पयोग करे आपकी समस्या का समाधान हो जायेगा

अगर पति या प्रेमी का पत्नी या प्रेमिका के प्रति प्यार कम हो गया हो तो श्री कृष्ण का स्मरण कर तीन इलायची अपने बदन से स्पर्श करती हुई शुक्रवार के दिन छुपा कर रखें। जैसे अगर साड़ी पहनतीं हैं तो अपने पल्लू में बांध कर उसे रखा जा सकता है और अन्य लिबास पहनती हैं तो रूमाल में रखा जा सकता है।
शनिवार की सुबह वह इलायची पीस कर किसी भी व्यंजन में मिलाकर पति या प्रेमी को खिला दें। मात्र तीन शुक्रवार में स्पष्ट फर्क नजर आएगा।

स्त्री को वश में करने के टोने- टोटके  ,”
 1. पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र में अनार की लकड़ी तोड़कर लाएं व धूप देकर उसे अपनी दांयी भुजा में बांध लें तो प्रत्येक व्यक्ति वशीभूत होगा। 2.काकजंघा, तगर, केसर इन सबको पीसकर स्त्री के मस्तक पर तथा पैर के नीचे डालने पर वह वशीभूत होती है। 3.टी इलायची, लाल चंदन, सिंदूर, कंगनी , काकड़सिंगी आदि सारी सामग्री को इक्ट्ठा कर धूप बना दें व जिस किसी स्त्री के सामने धूप देगें वह वशीभूत होगी।

वश में करने का उपाय ,”अगर आप अपने सास और ससुर को वश में करना चाहती हो तो सास या ससुर के कपडे का टुकड़ा का काटकर उस पर लाल पेन से उनका नाम लिख कर ७ दिन तक अपने पास रखे और ७ दिन क बाद उसके समसान में जाकर दफ़न कर दे या जला दे

प्रेमी प्रेमिका के अचूक वशीकरण मंत्र टोटके उपाय
अद्भुत मंत्र भगवते रुद्राय सर्वजगमोहनं कुरू कुरू स्वाहा से किसी मनचाही स्त्री को मोहित किया जा सकता है। या कहें कि उसे अपनी ओर सम्मोहित करने के लिए इस मंत्र का प्रयोग एक कारगर उपाय हो सकता है। इसके लिए उस स्त्री के पैरों के नीचे की मिट्टी उठाकर उसे सात बार पढ़कर उसके सिर डाल देने से वह मोहित हो जाती है। इस मंत्र को सिद्ध करने के लिए शनिवार से शुरु किये गए जाप के आयोजन को अगले शनिवार को खत्म करना होता है।

रविवार के दिन काले धतूरे के फूल, डाल, पत्ते एवं जड़ को पीसकर उसके समान भाग गोरोचन और केसर मिलाएं। उसके बाद तैयार सामग्री का तिलक लगाकर अपने साध्य स्त्री के सामने जाएं। थोड़ी देर में ही उसका आपके प्रति बदला हुआ वशीभूत प्रभाव दिखाई देगा। तिलक लगाने के समय मंत्र को पढ़ा जाना चाहिए।

स्त्री वशीकरण मंत्र को भी प्रयोग से पहले 21 दिनों तक सिद्ध किया जाता है। इसकी शुरुआत शनिवार से कि जाती है तथा आधी रात के समय तक नित्य जाप किया जाता है। हर मंत्र के साथ अग्निी में गुगल की आहूति दी जाती है। इसके प्रयोग के समय किसी मिठाई पर मंत्र को 21 बार पढ़कर स्त्री को खिला देने से वह वशीभूत हो जाती है।
Read full here
 

Usage Rights

Information About Helpline and Toll Free Number Lists are Provided with Updated Content.