सोनम गुप्ता बेवफा सत्य कहानी

सोनम गुप्ता बेवफा सत्य  कहानी

आजकल फेसबुक वाट्सएप पर सोनम गुप्ता बेवफा है के बारे में बहुत अधिक कमेंट आ रहें है । कुछ लोग सोशियल साइटों पर बहुत ज्यादा शेयर कर रहे है ।

असली कहानी क्या है ये कुछ कह नही सकते क्योंकि बहुत कहानियाँ बनायी जा रहीं हैं । पर असल में दो कहानियाँ सच के करीब हैं ।

पहली कहानी इस प्रकार है कि कोई मजाकिया व्यक्ति सनम बेवफा फिल्म का पोस्टर देख रहा था उसने गलती से सोनम बेवफा पढ लिया । उसके दोस्त की गर्लफ्रेंड का नाम सोनम गुप्ता था । उसने दोस्त को चिढाने के लिए 10 रुपए के नोट पर सोनम गुप्ता बेवफा लिख कर दोस्त को दे दिया । फिल्म के पोस्टर की फोटोशॉप करके सोनम गुप्ता बेवफा  है लिख दिया । इस कहानी को सभी शेयर करने लगे और कुछ परिवर्तन करने लगे ।

दुसरी कहानी ये है कि इक लडका इक लडकी से प्यार करता था । लड़की का नाम सोनम गुप्ता था । लडकी के बाप की दुकान थी कभी कभी लडकी भी दुकान मे पिता की सहायता करने आती थी । लडकी लड़का दोनो एक दुसरे से बहुत प्यार करते । अचानक लडकी ने लडके को छोड़कर दुसरे से प्यार करने लगीं । लडके ने मिलने की कोशिश की पर लड़की नही मिली ।

एक दिन लड़की दुकान पर पिता की सहायता कर रही थी । लडके ने एक बच्चे को 10 रुपए का नोट सोनम गुप्ता बेवफा है लिखकर दिया ओर बिस्कुट लाने को कहा । नोट की फोटो लेकर शेयर कर दी । बच्चा दुकान पर गया लडकी ने बच्चे से नोट लेकर छुपा लिया ।  5 के नोट पर सोनम गुप्ता बेवफा नही लिखकर दे दिया ।

यही कहानी हैै ।

मेरी सभी से प्रार्थना है कि अपना किमती समय व्यर्थ नही करें । ऐसी  कहानी से देश का किमती समय नष्ट नही करें ।
वाटस्अप पर इस प्रकार के संदेश शेयर करने से दुसरे लोगों का समय नष्ट होता है ।


1 comments:

u.shankar seth said...

Pakistan ko khatam karo

Post a Comment

 

Usage Rights

Information About Helpline and Toll Free Number Lists are Provided with Updated Content.